श्री पी के सिन्हा, अध्‍यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक (अतिरिक्त प्रभार), एमसीएल का संक्षिप्त परिचय

 

 श्री प्रभात कुमार सिन्हा को एनसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक के अतिरिक्त दिनांक 01.11.2020 से महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक का प्रभार भी सौंपा गया है। उन्होंने 22 दिसंबर, 2017 को सीएमडी, एनसीएल का पदभार ग्रहण किया तथा वे पूर्ण जिम्मेदारी के साथ कंपनी की व्यावसायिक कार्यनीतियों के विकास और क्रियान्वयन सहित कंपनी के कार्यनिष्पादन, जन और कारोबार के लिए कार्य कर रहे हैं। जनवरी, 1962 में जन्मे श्री सिन्हा ने वर्ष 1982 में रायपुर इंजीनियरिंग कॉलेज, रायपुर से माइनिंग इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने वर्ष 1988 में आईएसएम, धनबाद से “माइन प्लानिंग एंड डिज़ाइन” में स्नातकोत्तर शिक्षा पूरी की । श्री सिन्हा के पास कोल इंडिया लिमिटेड के संचालन, जनशक्ति, सामग्री एवं परियोजना प्रबंधन के साथ ओपनकास्ट और भूमिगत खनन गतिविधियों में 36 वर्षों का व्यवसायिक अनुभव हैं।

श्री सिन्हा ने उत्कृष्ट ट्रैक रिकॉर्ड के साथ, एसईसीएल, डब्ल्यूसीएल और एनसीएल की ओपनकास्ट तथा भूमिगत खानों में उत्पादन इकाई के प्रमुख के रूप में कार्य किया है। उन्होंने सीएमपीडीआईएल के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग में भी कार्य किया है।

 श्री सिन्हा को 3 अगस्त, 2016 को एसईसीएल के निदेशक (परियोजना एवं योजना) के पद पर नियुक्त किया गया था और एक वर्ष और चार महीने के कार्यकाल के दौरान, उन्होंने 752.459 हेक्टेयर भूमि का भौतिक अधिग्रहण किया, पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्रालय से 08 खानों के लिए टीओआर और एक खान के लिए पर्यावरण मंजूरी प्राप्त की, 383 हेक्टेयर वन भूमि के लिए द्वितीय चरण की मंजूरी प्राप्त की तथा एसईसीएल में डंप ढलानों की निगरानी के लिए ढलान स्थिरता रडार की शुरुआत भी की।

  श्री सिन्हा ने वर्ष 2008 में पोलैंड में तथा वर्ष 2011 में इस्तांबुल (तुर्की) में आयोजित विश्व खनन कांग्रेस (वर्ल्ड माइनिंग काँग्रेस) में भारतीय कोयला उद्योग का प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने वर्ष 2014 के दौरान उन्नत प्रबंधन विकास कार्यक्रम में प्रशिक्षण के लिए स्वीडन, स्विट्जरलैंड और जर्मनी का भी दौरा किया। वे सितंबर, 2016 के दौरान लास वेगास, यूएसए में अंतर्राष्ट्रीय माइन एक्स्पो-2016 का हिस्सा रहे तथा उन्हें 16-25 जून, 2017 तक सीआईएल/सीएमपीडीआई और सीआईएसआरओ, ऑस्ट्रेलिया के बीच समझौता ज्ञापन(MOU) के तहत प्रौद्योगिकी मिशन का प्रतिनिधित्व करने का सम्मान भी प्राप्त है।

   उनकी योग्यता का परिचय, वर्ष 2012 में कोलकाता में आयोजित 4 वीं एशियन माइनिंग कांग्रेस में उनके तकनीकी पेपर शीर्षक, “डंप स्लोप मॉनिटरिंग ऐट जयंत – द न्यू पर्सपेक्टिव”, नई दिल्ली में नवंबर, 2012 में आयोजित "एफ़आरएजीबीएलएएसटी-10" में उनके तकनीकी पेपर शीर्षक, “एफेक्ट ऑफ प्रॉडक्शन ब्लास्ट ऑन डम्प स्टेबिल्टी इन ओपन पिट माइंस” तथा 15-17 फरवरी, 2017 के दौरान एनएक्सजीएनएमआईएफ़यू 2017 सम्मेलन - नई दिल्ली में उनके तकनीकी पेपर शीर्षक, “एनवायरनमेंटल सस्टेनेबिलिटी एनालिसिस इन एसईसीएल” नामक के माध्यम से भी प्राप्त होता है।

  उन्हें वर्ष 2010-11 में परियोजना प्रमुख के रूप में एमपीसीसीबी-भोपाल से पर्यावरण प्रबंधन में उत्कृष्टता सम्मान, लगातार 2 वर्षों (2012, 2013) के लिए कोलकाता में एमजीएमआई द्वारा प्रदत्त सर्वश्रेष्ठ खान प्रबंधक का एचबी घोष स्मारक पुरस्कार जैसे कई गौरवपूर्ण पुरस्कारों सम्मानित किया गया है। वे खनन, भूवैज्ञानिक और धातुकर्म संस्थान (एमजीएमआई) और भारतीय खान प्रबंधक संघ (आईएमएमए) के साथ व्यवसायिक रूप से जुड़े हैं।

   श्री सिन्हा, संगठन को अधिकतम लाभ की दिशा की ओर अग्रसर करने तथा संकट प्रबंधन में सफलता हेतु योग्य कार्यनीतिज्ञ बनने में अपने बहु-आयामी अनुभव का उपयोग करते हैं । वह संगठन में मुक्त संवाद , टीमवर्क और एक सकारात्मक मनोबल के माध्यम से अपने नेतृत्व कौशल का निष्पादन करते हैं।

 

Welcome to MCL
वेबसाईट अंतिम अद्यतन : November 11 2020 10:59:53.
   महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड
( कोल इंडिया लिमिटेड की एक सहायक मिनीरत्न कंपनी)
जागृति विहार, बुर्ला, संबलपुर - 768020, उड़ीसा |
   CIN:U10102OR1992GOI003038
हमें फॉलो करें: